रवासन नदी से बछिया को रेस्क्यू कर जान बचाई,


लालढांग
पीएफए का सहायक वन गुज्जर युवा संगठन ने जानवरों के प्रति प्रेम का एक और उदाहरण पेश किया। शुक्रवार सुबह लालढांग क्षेत्र के पहाड़ों में अधिक वर्षा होने के कारण सुबह-सुबह रवासन नदी अपने रौद्र रूप में तेज भाव के साथ उफान में थी। उसी दौरान कुछ गाय नदी पार करने की ताक में नदी के तेज बहाव में लगभग बहने की कगार में पहुंची। लेकिन आनन-फानन में लगभग सब ही गाय पार निकल गई।लेकिन एक 2 साल की बछिया जो नदी के तेज बहाव को पार नही कर पाई और बहने लगी। और वह रवासन नदी के नहर के पुल के नीचे आकर एक पहाड़ से बहकर आये पेड़ की जड़ में फस गई। उसी दौरान वहां पर वन गुज्जर युवा संगठन के अजहर भड़ाना  और अन्य साथी को जैसे ही पता चला वह बिना देरी किए वहां पहुंचे और जल्द ही एक रस्सी का इंतजाम किया गया। फिर एक साथी रफी भडाना जो रस्सी के साथ लपक कर नदी के तेज बहाव में अपनी जान जोखिम में डालकर, उस बछिया के गले में रस्सा डाला और उसे सकुशल बिना किसी क्षति के जीवित बाहर निकाला। पीएफए जिला प्रभारी आदित्य शर्मा ने कहा कि इस बेहतरीन कार्य के लिए हमारे अजहर भड़ाना और उनकी पूरी टीम जिन्होंने इस कार्य को करने में मदद की उन्हें मैं तहे दिल से धन्यवाद कहना चाहूंगा।