चमार वाल्मीकि महासंघ ने दिल्ली पुलिस की जवान,राबिया सैफी के दोषियों के खिलाफ की कड़ी कानूनी कार्यवाही की मांग

हरिद्वार।  चमार वाल्मीकि महासंघ के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली पुलिस की जवान,राबिया सैफी के दोषियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही कराने एवं पीड़ित परिवार को एक करोड़ रूपया मुआवजा , परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी व सरकारी भवन तथा सुरक्षा दिलवाने के लिए सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय हरिद्वार पर प्रदर्शन कर सिटी मजिस्ट्रेट महोदय के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति महोदय के नाम ज्ञापन दिया।
चमार वाल्मीकि महासंघ के संस्थापक अध्यक्ष भंवर सिंह ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहां कि संगठन को सोशल मीडिया के माध्यम से ज्ञात हुआ है कि 27 अगस्त 2021 की रात को दिल्ली पुलिस की जवान ,मुस्लिम समाज की बेटी राबिया सैफी के साथ सामूहिक बलात्कार कर उसकी चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी गई है और उसके स्तन तक काटकर एंव प्राइवेट पार्टस तक गोदकर उन दरिंदों ने हैवानियत का नंगा नाच कर देश व दुनिया को शर्मसार किया है। उधर देश के राजनीतिक दलों की चुप्पी लगातार किए जा रही बेटियों हत्या के बलात्कारी एवं हत्यारों को संरक्षण साबित हो रही है ।
चमार वाल्मीकि महासंघ के महानगर अध्यक्ष चौधरी सुनील राजौर ने गंभीर घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि रामराज में भारत के मूलनिवासी बहुजन समाज की बहन -बेटियों पर ही लगातार जुल्मों का सितम हो रहा है। लगातार हो रही मूल निवासियों की बहन -बेटियों पर गंभीर घटनाओं से साबित हो रहा है कि विदेशी आर्य के रामराज में भारत का मूल निवासी बहुजन समाज एससी/ एसटी ,ओबीसी एवं अल्पसंख्यक आज आजादी के 74 साल बाद भी विदेशी आर्य का गुलाम है।
चमार वाल्मीकि महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र श्रमिक ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल जी उत्तराखंड में तो 300 यूनिट फ्री बिजली के गारंटी कार्ड बटवां रहे हैं परंतु दिल्ली में पुलिस की जवान, मुस्लिम समाज की बेटी के साथ गुंडों द्वारा सामूहिक बलात्कार कर उसके स्तन तक काटकर एंव उसके प्राइवेट पार्टस को चाकू से गोदकर दर्दनाक की गई हत्या पर चुप्पी साधे हुए है। श्री श्रमिक ने कहा कि हम चमार वाल्मीकि महासंघ उत्तराखंड के तमाम कार्यकर्ता घोर निंदा करते हैं और आपसे मांग करते हैं कि दोषियों के खिलाफ अविलंब कड़ी कानूनी कार्यवाही कराने एंव मृतक राबिया सैफी के पीड़ित परिवार को एक करोड़ रूपया मुआवजा ,उसके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, पीड़ित परिवार को सरकारी भवन एवं परिवार को सुरक्षा दिलाने की मांग करते हैं।
संस्थापक अध्यक्ष भंवर सिंह, प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र श्रमिक, जिलाध्यक्ष भानपाल सिंह रवि, युवा जिला अध्यक्ष विपिन पेवल, सुनील राजौर महानगर अध्यक्ष, वीरेंद्र श्रमिक, रफल पाल, पुरुषोत्तम , मोहम्मद नसीर अहमद, मोहम्मद इकराम एडवोकेट, जगपाल तहसील संयोजक, मुकेश श्रमिक,संजय बालाजी,अमित चंचल,आशीष राजौर,ऋषभ बहोत,शिवा चंचल, राजा,अमनडान, आयुष,राजेश छात्र, प्रिंसिपल फूल सिंह,कवि एवं शायर मोहम्मद सकलेन, जसवंत, सलेख चंद,अशोक हवलदार,प्रमोद बिरला,संजय चुटेला, राजेश खन्ना,आदि उपस्थित थे।