आज रात पृथ्वी के पास से गुजरेगा एस्टेरॉयड,जानिए क्या होगा खतरा !

शनिवार (आज) रात पृथ्वी के पास से एक फुटबॉल के मैदान जितना बड़ा एस्टेरॉयड (क्षुद्र ग्रह) गुजरेगा। 2008 जीओ 20 नाम का यह एस्टेरॉयड आठ किलोमीटर प्रति सेकेंड की गति से आगे बढ़ रहा है। रात करीब एक से दो बजे के बीच यह नजर आएगा। जब यह पृथ्वी के सबसे करीब से गुजरेगा तो पृथ्वी से इसकी दूरी करीब 28 लाख किमी होगी। नैनीताल स्थित आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान  के पब्लिक आउटरीच प्रभारी डॉ. वीरेंद्र यादव के अनुसार पृथ्वी के पास से हर साल छोटे एस्टोरॉयड गुजरते हैं। इस साल भी करीब 92 एस्टोरॉयड पृथ्वी के निकट से गुजर चुके हैं। पर 2008 जीओ 20 नाम का यह एस्टेरॉयड करीब दो सौ मीटर लंबा है। इस साल तीन बड़े आकार के एस्टेरॉयड धरती के करीब से गुजरेंगे।

यह होते हैं एस्टेरॉयड
एस्टेरॉयड वह चट्टानें होती हैं, जो किसी ग्रह की तरह ही सूरज के चक्कर काटती हैं। लेकिन ये आकार में ग्रहों से काफी छोटी होती हैं। गैस और धूल के ऐसे बादल जो किसी ग्रह का आकार नहीं ले पाए और पीछे छूट गए, वही इन चट्टानों यानी एस्टेरॉयड में तब्दील हो गए। यही वजह है कि इनका आकार भी ग्रहों की तरह गोल नहीं होता। कोई भी दो एस्टेरॉयड एक जैसे नहीं होते हैं।

22 एस्टेरॉयड के पृथ्वी से टकराने की आशंका
नासा ने इस एस्टेरॉयड को खतरनाक की श्रेणी में रखा है। दरअसल नासा सहित दुनिया भर के खगोल वैज्ञानिकों की टीम ने करीब दो हजार एस्टेरॉयड को निगरानी पर रखा है। इसमें से करीब 22 के पृथ्वी से टकराने की आशंका है। किसी भी तेज रफ्तार धूमकेतु या एस्टेरॉयड के धरती से 46.5 लाख मील से ज्यादा  करीब आने की संभावना होती है तो वैज्ञानिक इसे खतरनाक मानते हैं।