रविवार तड़के बड़ा हादसाः उत्तराखंड घूमने आई तीन महिलाएं गंगा में बहीं, तलाश को रेस्क्यू आपरेशन जारी

हरिद्वार। देहरादून जनपद के रायवाला में गीता कुटीर घाट पर स्नान के लिए आईं एक युवती और दो महिलाएं गंगा की तेज धारा में बह गई। मौके पर पहुंची पुलिस की टीम और एसडीआरएफ ने उनकी खोजबीन शुरू कर दी है, लेकिन अभी तक उनका पता नहीं चल पाया है। तीनों हरियाणा से स्वजनों के साथ उत्तराखंड घूमने आई थी। रात को वह हरिपुरकलां में एक आश्रम में रुकी हुईं थी।
हरिपुरकलां के चौकी इंचार्ज प्रेम सिंह नेगी ने बताया कि बहने वालों के नाम कुसुम (36 वर्ष) पत्नी राजेश निवासी ग्राम खानपुरकलां, सीमा (34 वर्ष) पत्नी नरेंद्र निवासी ग्राम पादची थाना गन्नौर और कुमारी नेहा (24 वर्ष) पुत्री सतवीर ग्राम गढ़ी केसरी तहसील गन्नौर सभी निवासी सोनीपत(हरियाणा) है। घटना से उनके साथ आए स्वजनों में कोहराम मच गया।
बता दें कि पूर्व में भी इस घाट पर तीर्थ यात्रियों के बहने के घटनाएं हो चुकी है। हरिद्वार जिले की सीमा पर स्थित इस घाट पर सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम नहीं हैं। वहीं इस जगह पर बहाव भी तेज है, जिसकी जानकारी यात्रियों को नहीं हो पाती। प्रशासन ने भी यहां पर यात्रियों को घाट के खतरनाक होने जानकारी देने अथवा सुरक्षा के कोई उपाय नहीं किए हुए हैं। ये तीनों रविवार सुबह तड़के करीब पांच बजे गीता कुटीर घाट पर नहाने के लिए पहुंची। इस जगह पर नदी का बहाव काफी तेज है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिकजैसे ही नदी में उतरी बहाव की चपेट में आ गईं। सूचना पर रायवाला पुलिस मौके पर पहुंची। वहीं, एसडीआरएफ ने खोजबीन शुरू की है। अभी तक तीनों का कोई पता नहीं चल सका है।