जयपुर गोल्डन अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से हुई थी 21 कोविड मरीजों की मौत? रिपोर्ट पर जैन ने दी ये सफाई

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को कहा कि राजधानी के जयपुर गोल्डन अस्पताल में कोविड के 21 मरीजों की मौत से जुड़ी जो रिपोर्ट हाईकोर्ट को सौंपी गई है उसे प्राथमिक रिपोर्ट माना जाए क्योंकि यह महज एक दिन में तैयार की गई। रिपोर्ट में इन मौतों की वजह ऑक्सीजन की कमी नहीं बताई गई है।

यह पूछे जाने पर कि हाईकोर्ट में दिल्ली सरकार की कमेटी द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में यह क्यों कहा गया है कि जयपुर गोल्डन अस्पताल में हुई मौतें ऑक्सीजन की कमी के चलते नहीं हुई थी, जैन ने कहा कि इस मामले में रिपोर्ट एक दिन दिन में सौंपी जानी थी…आप कह सकते हैं कि यह एक प्राथमिक रिपोर्ट है।

उन्होंने कहा कि अंतिम रिपोर्ट के लिए हमने एक नई कमेटी गठित की थी, जो बत्रा अस्पताल में हुई मौत सहित इस तरह की सभी मौतों की जांच करने वाली थी, लेकिन केंद्र ने कमेटी को उपराज्यपाल के जरिए भंग करा दिया।

हाईकोर्ट को सौंपी गई दिल्ली सरकार की रिपोर्ट में विशेषज्ञ कमेटी के निष्कर्षों का हवाला दिया गया है, जिसमें कहा गया है, ”रोग के प्राकृतिक स्वरूप और मौतों का संबंध ऑक्सीजन की कमी से होने के बारे में साक्ष्य के अभाव के चलते समिति की यह राय है कि ये मौतें ऑक्सीजन की कमी के चलते होने की बात नहीं हो सकी है।