पूरे प्रदेश में पूर्व की भांति 7-1 ही खुलेगी दुकाने, लॉक डाउन का हो सख्त पालन: सीएम

 
राजधानी जनपद क्षेत्र में तीन नए कोविड-19 पोसेटिव ममले आने के बाद, गोवा, मिज़ोरम के बाद तीसरे नंबर की प्रतिस्पर्धा को झटका लगा है। शनिवार को लिये गये 9 जनपदों को खोलने का निर्णय अगले दिन ही वापस लेना पड़ा।
रविवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश में कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि लाॅकडाऊन को सख्ती से लागू रखना है। सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाए। पेशेन्ट केयर पर विशेष ध्यान दिया जाए। बैठक में तय किया गया कि राज्य के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में भारत सरकार की  गाइडलाइन के अनुसार ही दुकानों को खोलने की अनुमति दी जाए। पूरे राज्य में दुकानों के खुलने का समय पहले की तरह सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक ही रहेगा। बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, डीजीपी अनिल कुमार रतूङी, प्रमुख सचिव मनीषा पंवार, सचिव अमित नेगी, नितेश झा, राधिका झा उपस्थित थे।
उत्तराखंड हम सभी का घर है, ओर हम सभी मे से कोई भी अपने घर को बिगड़ता हुआ नही देख सकता है। कोरोना संक्रमण एक वायरस से उत्पन्न हुआ है, इससे बचाव के लिए हमे स्वयं भी प्रयास करने होंगे। वरना भले ही जीवनभर आप ने कितने ही अच्छे कार्य किये हो पर कोरोना ग्रसित होने के बाद आप के दोस्त, जानकर तो दूर परिवारीजन भी अंतिम यात्रा में शामिल नही हो पाएंगे। 4 कंधों की जगह रेडे(स्टेचर) पर कोरोना योद्धा ले जाएंगे। न कोई रीति न कोई संस्कार, बस मृत शरीर को नष्ट कर दिया जायेगा। इसलिये स्वयं को बचाये ओर अपने परिवारीजन दोस्त जानकारों को सभी को बचाये। सामाजिक दूरी बनाए, आवशक्ता न हो तो घर से बाहर न निकले, लॉकडाउन के नियमो का पालन करे। अपने घर उत्तराखंड को जन्नत बनाये दोज़ख नही।