भाजपा के राशन वितरण कार्यक्रम की प्रशासन से कार्रवाई सार्वजनिक करने की मांग की


हरिद्वार।
देश भर की जनता को सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ पढ़ाने वाले लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपनी राजनीतिक पार्टी के नेता ही उनके सुझाये नियमो का अनुकरण नहीं करते हैं। धर्मनगरी हरिद्वार में भी कुछ ऐसा ही हुआ। जब भाजपा नेताओं द्वारा बिना सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराए सैकड़ों लोगों को राशन बांटने का कार्यक्रम आयोजित करा दिया गया। भीड़ लगाकर बंदरबांट करना शहर में भाजपा नेताओं के लिए कोई नई बात नहीं है। परंतु कोरोनावायरस लॉक डाउन के सभी नियमों को ताक पर रखकर बिना सोशल डिस्टेंसिंग के इस प्रकार बड़ा कार्यक्रम आयोजित करना अब भाजपा नेताओं प्रशासन और सरकार को भारी पड़ गया है। आयोजित कार्यक्रम में कोई कोरोना संदीप दुबे घुस आया था जिस कारण कई नेता आज कारंटाइंड हो चुके हैं परंतु कुछ नेताओं का नाम लिस्ट में होने के बावजूद भी वह अभी भी समाज में लोगों के बीच जाकर व्यवस्था को खराब करने में लगे हुए हैं।
श्री ब्राह्मण सभा के अध्यक्ष पंडित अधीर कौशिक ने जिला अधिकारी को पत्र प्रेषित कर प्रशासन द्वारा उत्तरी हरिद्वार में भाजपा की ओर से 25 मई को आयोजित राशन वितरण कार्यक्रम की अनुमति की प्रमाणित प्रति उपलब्ध कराने की मांग की है। अधीर कौशिक की मांग है कि प्रशासन को आयोजन के अनुमति पत्र व कार्रवाई को सार्वजनिक करना चाहिए। ईमेल के माध्यम से प्रेषित किए गए पत्र में पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि लॉकडाउन—4 के दौरान 25 मई को भाजपा की ओर से राशन वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमें शहरी विकास मंत्री मदन कोशिक के साथ बडी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता भी शामिल हुए थे। उस कार्यक्रम में शामिल हुआ एक व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव पाया गया है। केंद्र सरकार की गाइड लाइन के अनुसार लॉकडाउन में प्रशासन की अनुमति के बिना कोई भी आयोजन नहीं किया जा सकता है। दिशा निर्देशों के अनुसार शादी समारोह में 50 तथा किसी की मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार में केवल 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति है। पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि सरकार के दिशा निर्देशों को ताक पर रखकर राशन वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड किया जा रहा है। भीड भाड वाले किसी भी आयोजन की अनुमति प्रशासन नहीं प्रदान कर रहा है। ऐसे में भाजपा द्वारा आयोजित राशन वितरण कार्यक्रम में सैकडो लोग राशन लेने के लिए पहुंचे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं किया गया है। कोरोना पॉजीटिव व्यक्ति भी राशन लेने के पहुंचा था। जिसके चलते कई भाजपा कार्यकर्ताओ को होम क्वारंटिन भी करना पडा पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि जिला प्रशासन को भीड भाड वाले आयोजनों की मॉनिटरिंग व वीडियोग्राफी करनी चाहिए, क्योंकि संक्रमित व्यक्ति के कारण अन्य लोगों में भी संक्रमण फैलने की संभावना बढ गयी है। पंडित अधीर कौशिक ने कोरोना फैलने की संभावना वाले कार्यक्रम का आयोजन करने वालों के खिलाफ की गयी कार्रवाई की प्रमाणित प्रति भी उपलब्ध कराने की मांग की है।