सीएम ने सुनी आपदा प्रभावित जुम्मा के ग्रामीणों की समस्याएं

पिथौरागढ़। मुख्यमंत्री पुष्कर  सिंह  धामी ने आपदा ग्रस्त जुम्मा गांव का हैलीकॉप्टर से हवाई निरीक्षण किया। एलागाड़ स्थित एसएसबी कैंप में आपदा प्रभावितों और स्थानीय लोगों की समस्याएं सुनी। इस मौके पर आपदा के मृतकों के परिजनों को सोलह लाख की धनराशि के चेक वितरित किए। एक-एक लाख की धनराशि मुख्यमंत्री राहत कोष से देने की घोषणा की।
मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हेलीकॉप्टर से 11 बजकर 45 मिनट पर जुम्मा पहुंचे। उन्होंने जुम्मा का हवाई निरीक्षण किया। बाद में हेलीकॉप्टर एलागाड़ हेलीपैड पर उतरा। जहां पर उन्होंने एसएसबी कैंप में आपदा प्रभावितों और स्थानीय लोगों की समस्याएं सुनी। ग्रामीणों ने अपनी आपबीती बताई। हादसे में परिवार के सदस्यों को खो चुके प्रभावितों ने अपनी आपबीती बताई। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर आपदा प्रभावितों को सांत्वना देते हुए गांव की भूगर्भीय जांच कराते हुए विस्थापन करने का भरोसा दिलाया। और कहा कि सरकार आपदा पीड़ितों के साथ है।धारचूला में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने जुम्मा हादसे पर गहरा दुख जताया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में आपदा के मंजर डरा रहे हैं। इस समय क्षेत्र का सड़क सम्पर्क कटा हुआ है और सबसे पहले सड़क सम्पर्क बहाल करना है। इस संबंध में बीआरओ के मुख्य अभियंता से बात की जा रही है। उन्होंने कहा कि घटनास्थल पर खोज बचाव कार्य  जारी है। एसडीएम धारचूला को मौके पर ही कैंप करने के आदेश दिए गए हैं। आपदा प्रभावित क्षेत्र में राशन से लेकर अन्य वस्तुओं की आपूर्ति, चिकित्सा व्यवस्था दुरु स्त रखने के प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं।
वार्ता के दौरान उन्होंने धारचूला के तड़कोट क्षेत्र में हुए भूस्खलन के लिए भी शीघ्र कार्यवाही करने को कहा । पत्रकारों से वार्ता के दौरान उन्होंने बताया कि पिथौरागढ़ मेडिकल कालेज के लिए 76 करोड़ की धनराशि अवमुक्त हो चुकी है। नैनी सैनी हवाई पट्टी से नियमित उड़ान के लिए प्रयास जारी हैं। समय की कमी और मौसम को देखते हुए उनकी अधिकारियों के साथ बैठक नहीं हो सकी। उन्होंने इस संबंध में जिलाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। वार्ता के बाद वह खटीमा के लिए रवाना हो गए।