एम्स के प्रशिक्षु चिकित्सक की सन्दिग्ध मौत, साथी डॉ से जारी पूछताछ


ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में स्नातकोत्तर तृतीय वर्ष के चिकित्सक (छात्र) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। देर रात पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शिशुपाल सिंह नेगी ने बताया कि डा. शिवानंद (30 वर्ष) निवासी बीदर कर्नाटक, एम्स ऋषिकेश में एनेस्थीसिया में पीजी तृतीय वर्ष का छात्र था। सोमवार रात शिवानंद की एम्स में ड्यूटी थी। मगर, देर रात तक जब वह ड्यूटी पर नहीं पहुंचा तो उसके साथियों ने फोन लगाकर उससे संपर्क करने की कोशिश की तो कोई संपर्क नहीं हो पाया। गार्ड के माध्यम से हास्टल में पता करने की कोशिश की गई। मगर, शिवानंद का कमरा भीतर से बंद था।
अनहोनी की आशंका सुरक्षाकर्मियों ने एम्स प्रशासन को इसकी सूचना दी। वहीं सूचना पाकर एम्स पुलिस चौकी से पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने किसी तरह हास्टल के कमरे का दरवाजा खोला। कमरे के भीतर शिवानंद मृत अवस्था में पड़ा हुआ था। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि संभवत मृतक ने इंजेक्शन अथवा दवा के रूप में कोई ओवरडोज ली है, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है, मृतक के साथियों से पूछताछ की जा रही है। फिलहाल शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।