भूस्खलन से गंगोत्री हाईवे बंद, बड़ेथी के पास 22 तक रूट रहेगा डायवर्ट

उत्तरकाशी। बारिश के चलते एक बार फिर गंगोत्री जाने वाला हाईवे ठप हो गया है. यहां राहत कार्य चल रहा है तो वहीं एक टनल निर्माण के कारण 22 सितंबर तक हाईवे पर रूट डायवर्ट किए जाने का प्लान बनाया गया है।
उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में भारी बारिश का कहर जारी है। ताज़ा समाचार के मुताबिक लगातार हो रही भारी बारिश के चलते उत्तरकाशी ज़िले में गंगोत्री हाईवे ठप हो गया है। यहां भूस्खलन के कारण चट्टानों के टुकड़े और मलबा सड़क पर गिर गया है, जिसे हटाने का काम शुरू कर दिया गया है। इससे पहले खबर यह थी कि बड़ेथी के पास 15 से 22 सितंबर तक इस गंगोत्री हाईवे पर वाहनों का आना जाना बंद कर दिया जाना था क्योंकि यहां एक महत्वपूर्ण निर्माण कार्य होना है।
बताया जा रहा है कि  गंगोत्री हाईवे पर सुखी टॉप इलाके में भूस्खलन के चलते रास्ता बंद हो गया। उत्तरकाशी आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल के हवाले से कहा गया कि बॉर्डर रोड्स संगठन यानी बीआरओ की मदद से यहां रेस्क्यू करवाया जा रहा है और मलबा हटाने की कवायद शुरू कर दी गई है। खबर लिखे जाने तक यात्री और वाहन फंसे हुए थे, जबकि कुछ को दूसरे रास्ते लेने की हिदायत दी गई।
एक अन्य खबर में बताया गया कि बड़ेथी के पास चूंकि एक ओपन टनल का निर्माण किया जाना है।  इसलिए 15 से 22 सितंबर के बीच यहां रास्ता बंद रहेगा. वास्तव में, करीब 9 साल पहले की आपदा के चलते यहां भूस्खलन क्षेत्र बन गया था, जिससे यह सड़क दुर्घटना के लिए आशंकित हो गई थी। इसके ट्रीटमेंट पर 29 करोड़ खर्च करने के बाद भी काम सफल नहीं हो सका था। अब यहां और 28 करोड़ की लागत से एक ओपन टनल बनवाई जा रही है, जिसकी लंबाई 310 मीटर की होगी. इस निर्माण के चलते वाहनों को मनेरा बाईपास से डायवर्ट किया जाएगा।