41 ट्रेनर्स कौशलाचार्य अवार्ड्स से सम्‍मानित, उत्‍तराखंड के दो ट्रेनर्स को भी मिला सम्‍मान

देहरादून। कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय (एमएसडीई) ने आज कौशलाचार्य अवार्ड्स के तीसरे संस्‍करण पर आयोजित एक डिजिटल सभा में प्रशिक्षकों को सम्‍मानित किया और चार नये ट्रेड्स लॉन्‍च किये। एमएसडीई ने यह भारत के युवाओं को सशक्‍त करने और ज्‍यादा से ज्‍यादा प्रशिक्षकों को स्किल इंडिया मिशन से जुड़ने हेतु प्रोत्‍साहित करने के अपने प्रयास में किया था। आयोजन में स्किल इंडिया की कई पहलों और प्रशिक्षण कार्यक्रमों के 41 प्रशिक्षकों का सम्‍मान किया गया। उनमें से उत्‍तराखंड के अतनु घोष (डीजीटी) और सर्व फार्मास्‍युटिकल्‍स (अप्रेंटिसशिप) को कौशल पारितंत्र में उनके बेहतरीन योगदान के लिए पुरस्‍कार दिया गया।
कौशल विकास एवं उद्यमिता और शिक्षा मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने कहा, “आज का यह अवसर वास्‍तव में शुभ है, जहाँ हम संसार के रचियता और हमारे स्किल इकोसिस्‍टम के निर्माताओं को सम्‍मानित कर रहे हैं। यह महत्‍वपूर्ण है कि हम अपने उन युवाओं और सभी प्रतिभा-संपन्‍न लोगों की स्किलिंग, रिस्किलिंग और अपस्किलिंग पर जोर दें, जो राष्‍ट्र-निर्माण के लिये काम कर सकते हैं। ”प्रशिक्षकों का सम्‍मान विभिन्‍न श्रेणियों के अंतर्गत उनके योगदान के लिये किया गया। पाँच प्रशिक्षकों को पीएमकेवीवाय ट्रेनर और एक्‍सीलेंस इन पीएमकेवीवाय मास्‍टर ट्रेनर नामक दो श्रेणियों में पुरस्‍कृत किया गया। नौ प्रशिक्षकों ने जेएसएस के अंतर्गत पुरस्‍कार प्राप्‍त किया, जबकि दो प्रशिक्षकों को एंट्रीप्रेन्‍योरशिप में योगदान के लिये पुरस्‍कृत किया गया। इसके अलावा, पाँच अभ्‍यर्थियों को अप्रेन्टिसशिप श्रेणी के अंतर्गत पुरस्‍कार मिले और दो प्रशिक्षकों को डीजीटी ने नॉन-इंजिनियरिंग श्रेणी में पुरस्‍कृत किया। इंजिनियरिंग श्रेणी में दो लोगों का सम्‍मान हुआ। इंडस्‍ट्रीयल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट्स (आईटीआई) भारत के व्‍यावसायिक प्रशिक्षण की पारिस्थितिकी के स्‍तंभ हैं। उनके 11 प्रशिक्षकों को सम्‍मानित किया गया।