पिथौरागढ़ में बादल फटा, 3 की मौत, JCO समेत सेना के 8 जवान लापता

पिथौरागढ़ (ब्यूरो)।
उत्तराखण्ड के पिथौरागढ़ जिले में आज बादल फटने से तीन लोगों की मौत हो गई है। इस घटना में जेसीओ समेत सेना के आठ जवान भी लापता हो गए हैं। पिथौरागढ़ के ही मालपा गांव में तीन दुकानें बह गई और मलबे में दबने की वजह से तीन स्थानीय लोगों की मौत हो गई।
बादल फटने की यह घटना कैलाश मानसरोवर रास्ते के मालती गांव के पास हुई है। यहां टेंट लगाकर रुके आर्मी के आठ जवानों समेत तीन पोर्टर भूस्खलन की चपेट में आने से लापता हैं। पिथैरागढ़ में पिछले कई दिनों से भारी बारिश हो रही है। बॉर्डर क्षेत्र में तैनात आई.टी.बी.पी. मिर्थी से मिली जानकारी के अनुसार बादल फटने की घटना मांगती नाले और मालपा के बीच हुई थी। इस घटना में JCO समेत सेना के 8 जवान लापता है। इस घटना में तीन की मौत हो गई है, जबकि एक को बचाया गया है।
भारी बारिश और भूस्खलन की वजह से फिलहाल कैलाश मानसरोवर यात्रा को रोक दिया गया है. स्थानीय काली नदी का बहाव खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है।ऐलागाड समेत कुछ जगहों में सड़क भी बाधित हो गई हैं. स्थानीय रैस्क्यू टीम ने एक जूनियर अफसर (जे.सी.ओ.) समेत तीन जवानों को सुरक्षित बचा लिया है ।
वहीं कल पिथौरागढ़ के बंगापानी में भारी बारिश के बाद भूस्खलन की वजह से एक मकान गिर गया था। इस हादसे में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की जान चली गई थी। भूस्खलन से चार से पांच मकानों के दबे होने की खबर है।